• ब्रिजेश देशपांडे 'वारिस'

तिमिर

अनंत हूँ मैं

अंधकार सा फ़ैला

एक अनंत हूँ मैं


तुम कभी इसमें

सितारा बन चमको

तो कोई बात बने

या

किसी जुगनू सी

टिमटिमाओ

तो कोई बात बने


पल भर को सही

आ कर मुझे तोड जाओ

तो कोई बात बने

पल भर को ही सही

कभी आओ रह जाओ

के कोई बात बढ़े।


- ब्रिजेश देशपांडे 'वारिस'

0 views0 comments